A Dream Unrealized….Gamunda (Gamraj)  

Just found photocopy of something special! ….sharing few panels from 60-page manuscript “Gamunda” (written for Raj Comics character Gamraj)….Back in 2008, RC approved this idea of merging Yamunda-Gamraj into one superhero with humorous powers but unfortunately due to pressure from other best selling series and characters, management discontinued Gamraj series later that year and this project never saw the light of day. 😦

आज 2008 में लिखी स्क्रिप्ट गमुण्डा की फोटोकॉपी मिली, 55 पेज है लगभग। आईडिया सर को पसंद आया था पर जब तक स्क्रिप्ट हुयी तब तक गमराज सीरीज ही बंद हो गयी। एक चालाक अपराधी गैंग की हरकतों से परेशान गमराज यमुण्डा की मदद पर निर्भर रहने के बजाये उसका विलय अपने शरीर मे करवाता है और लॉजिक देता है जब नागराज में इतने सांप आ सकते है तो मुझमे एक भैंसा नहीं फिट किया जा सकता। इस विलय से बने बलशाली भैंसा-सुपरहीरो की पावर्स थी गोबर-पात (दुश्मन को गोबर की विशालकाय वृष्टि से दबा देना), उपला फायर, गोबर गैस फुंकार, भैंस की पूँछ रस्सी और यमुण्डा की पुरानी शक्ति किसी भी वाहन में बदल जाना। अब यह पढ़ रहा हूँ तो लग रहा है पहले ही बेहतर लिखता था। 🙂 एक और मज़े की बात यह है कि ये स्क्रिप्ट ज़बरदस्ती विवेक गोयल जी (Artist, Holy Cow Entertainment Founder) को पढ़वाई थी जब वो लखनऊ के मेरे पुराने घर आये थे…..ही ही….

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: